वर्ष-2008 : हिन्दी चिट्ठा हलचल (भाग- 2 ) वर्ष-2008 : हिन्दी चिट्ठा हलचल (भाग- 2 )

चलिए अब मुंबई हमलों से उबरकर आगे बढ़ते हैं और नजर दौडाते हैं भारतीय संस्कृति की आत्मा यानी लोकरंग की तरफ़ । कहा गया है, कि लोकरंग भारतीय संस...

और जानिएं »
12:28 pm

वर्ष-2008 : हिन्दी चिट्ठा हलचल ( भाग - 1 ) वर्ष-2008 : हिन्दी चिट्ठा हलचल ( भाग - 1 )

वर्ष -2००८ में हिन्दी चिट्ठा जगत के लिए सबसे बड़ी बात यह रही कि इस दौरान अनेक सार्थक और विषयपरक ब्लॉग की शाब्दिक ताकत का अंदाजा हुआ । अनेक ...

और जानिएं »
1:26 pm

आलोचनाओं को सकारात्मक भाव से लेना चाहिए ! आलोचनाओं को सकारात्मक भाव से लेना चाहिए !

कोई करे न करे हम जरूर देश के टुकङे कर देंगे यह पोस्ट मिहिरभोज ने लोखा है तत्त्व चर्चा में - ये एक ब्लोग पोस्ट है ...संभवताया लिखने वाली भा...

और जानिएं »
8:12 pm

आतंक पढाये मुल्ला , चले कत्ल की राह ! आतंक पढाये मुल्ला , चले कत्ल की राह !

आतंक पढाये मुल्ला , चले कत्ल की राह । जेहादी के नाम पे , पाक हुआ गुमराह । । बारूदों के ढेर पे , बैठा पाकिस्तान । खुदा करे ...

और जानिएं »
8:44 pm

कौन बचाएगा यहाँ पांचाली की लाज ? कौन बचाएगा यहाँ पांचाली की लाज ?

कान्हा - कान्हा ढूँढती , ताक- झाँक के आज । कौन बचाएगा यहाँ, पांचाली की लाज । । गिद्ध - गोमायु- बाज में, राम-नाम की होड़ । मरघट-मरघट घूमत...

और जानिएं »
8:06 pm

उसे नही मालूम कि क्या है आतंकवाद ? उसे नही मालूम कि क्या है आतंकवाद ?

११/२६ : एक शब्द चित्र बारूदों के बीच जलते हुए अपने परिवार को चीखते हुए अपने पिता/ कराहती हुयी अपनी माँ को जब देखा होगा वह मासूम मोशे ...

और जानिएं »
7:20 pm
 
Top